Menu

शिकायत दर्ज़ करें

पृथ्वी पर प्रत्येक जीव की वास्तविक जरूरतों के लिए पर्याप्त संसाधन मौजूद है, पर उनकी लालच के लिए नहीं।

-महात्मा गाँधी

खादी और ग्रामोद्योग आयोग का सतर्कता निदेशालय संगठनात्मक संरचना का अभिन्न अंग हैं। खादी और ग्रामोद्योग आयोग में सतर्कता निदेशालय मुख्य रूप से प्रिवेंटिव विजिलेंस को महत्व प्रदान करता है और इसका उद्देश्य केंदीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के उद्देश्यों के साथ समन्वय स्थापित करना है। सतर्कता निदेशालय सुनिश्चित करता है कि वर्त्तमान में जारी किए गए दिशा निर्देश और अनुदेश का सभी स्तरों पर अनुपालन किया जाए। इस लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु सतर्कता निदेशालय का उद्देश्य यही है कि वह अपने प्रत्येक कर्मचारी में जवाबदेही और पारदर्शिता की अवधारणा के प्रति जागरूकता पैदा करें और उन्हें नियमों और विनियमों से अवगत कराएं ताकि उनका आचरण खादी और ग्रामोद्योग आयोग के सामाजिक और आर्थिक उद्देश्यों से एकरूप रहें।

सतर्कता निदेशालय भ्रष्टाचार विरोधी उपायों पर शिक्षा प्रदान करने और जागरूकता को बढ़ावा देने, नियमों और प्रक्रियाओं के सरलीकरण, सिस्टम के खामियों को दूर करने और संगठन में ईमानदारी और अखण्डता की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए निरंतर प्रयास सह सक्रिय सतर्कता के दृष्टिकोण को अपनाने में विशवास रखता है। चूँकि सभी संबंधितों के लिए सतर्कता निदेशालय का दंडात्मक पहलू अत्यंत संवेदनशील मुद्दा है, अतः सतर्कता निदेशालय के अंतर्गत गहन विचार-विमर्श और आंकलन करने के पश्चात अनुशासनिक प्राधिकारी को सलाह दिया जाता है।

मुख्य सतर्कता अधिकारी, अधिकारी दल की सहायता से सतर्कता निदेशालय के कार्य की देख रेख करते है। मुख्य सतर्कता अधिकारी सतर्कता से संबंधित मामलों में संगठनों अर्थात केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो, केन्द्रीय सतर्कता आयोग आदि के बीच कड़ी के रूप में कार्य करता है।

सतर्कता निदेशालय संगठन के लिए उपयुक्त पद्धति,कार्यविधि में सुधार लाने हेतु ई-मेल के माध्यम से सुझाव प्रेषित करने का अनुरोध करता है।

सतर्कता निदेशालय, खादी और ग्रामोद्योग आयोग के किसी भी कर्मचारी और अधिकारियों के भ्रष्टाचार, कदाचार में लिप्त पाए जाने से संबंधित आपके किसी भी शिकायत का निवारण करने हेतु तत्पर रहेगा।

श्री. मोहित जैन, आई.आर.एस
मुख्य सतर्कता अधिकारी

कार्यालय दूरभाष :022-2671 2564 – मुंबई
फ़ैक्स : 022-2671 4066 – मुंबई
ई-मेल : cvo[dot]kvic[at]gov[dot]in


To lodge online Vigilance Complaint ( CLICK HERE )

Menu